(कृषि और सहकारिता विभाग, कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय, भारत सरकार के अधीन शत–प्रतिशत सहायता अनुदान प्राप्त संस्थान)
गणेश खिंड मार्ग, पुणे - 411 007, महाराष्ट्र, भारत

प्रशिक्षण गतिविधियाँ
निदेशक का डेस्क

भारत में, ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों में बड़े पैमाने पर रोजगार के साथ अर्थव्यवस्था के सभी क्षेत्रों में सहकारिता का व्यापक क्षेत्र है। सहकारी क्षेत्र अर्थव्यवस्था के विकास, वित्तीय समावेश, रोजगार सृजन और गरीबी उन्मूलन के लिए एक सफल मॉडल भी है। वैकुंठ मेहता राष्ट्रीय सहकारी प्रबंधन संस्थान (वैमनिकॉम) सहकारी शिक्षा और प्रशिक्षण में एक शीर्ष राष्ट्रीय संस्थान है और इसे पूरी तरह से भारत सरकार द्वारा वित्त पोषित किया जाता है। वैमनीकॉम परिसर में ही, कृषि बैंकिंग में अंतर्राष्ट्रीय सहयोग और प्रशिक्षण केन्‍द्र (सीआईसीटीएबी) भी है, जो सहकारी, कृषि और ग्रामीण वित्तपोषण गतिविधियों को मजबूत करने के लिए अंतरराष्ट्रीय सहयोगी प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन करता है। सीआईसीटीएबी को खाद्य और कृषि संगठन (एफएओ) और सरकार द्वारा प्रोत्साहित किया जाता है और इसका समर्थन किया जाता है। सीआईसीटीएबी, कृषि एवं किसान कल्‍याण मंत्रालय, भारत सरकार मुख्य रूप से दक्षिण पूर्व एशियाई देशों और सार्क देशों के प्रतिभागियों के लिए भारत और विदेशों में प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित करता है।

           मैं,  डॉ. आशीष कुमार भूटानी, आईएएस ने निदेशक, वैकुंठ मेहता  राष्‍ट्रीय सहकारी प्रबंध संस्‍थान,  और  कृषि बैंकिंग में अंतर्राष्ट्रीय सहयोग और प्रशिक्षण केन्‍द्र (सीआईसीटीएबी)  के निदेशक के रूप में 19/12/2016 कार्यभार संभाल रहा हूँ । वैमनीकॉम का सहकारी क्षेत्र और सरकारी विभागों में कार्यरत अधिकारियों को बेहतरीन गुणवत्ता और कला के साथ 9 महीने के  सहकारी व्यवसाय प्रबंधन मे    स्‍नात्‍कोत्‍तर पदविका (पीजीडीसीबीएम) और 3 महीने की अवधि का कम्‍प्‍यूटर संचालन प्रबंधन में पदविका (डीएमसीओ) तथा सभी कार्यात्मक क्षेत्रों में अल्‍पकालिक प्रबंध विकास कार्यक्रम का आयोजन करने  के  उच्च ब्रांड वैल्यू और प्रतिष्ठा का लंबा इतिहास रहा है। भारत और विदेशों में इन-सर्विस कर्मियों को सहकारी समितियों में विशेषज्ञता में रुचि रखने वाले इन मध्यम अवधि के प्रशिक्षण कार्यक्रमों में भाग ले सकते हैं। सहकारी और कृषि व्यवसाय क्षेत्र में कैरियर बनाने के लिए इच्छुक नए स्नातकों के लिए संस्थान एमबीए की डिग्री के समतुल्‍य और एआईसीटीई और एआईयू द्वारा मान्यता प्राप्त दो साल का कृषि व्यवसाय और प्रबंधन में डिप्लोमा - (पीजीडीएम-एबीएम)  प्रदान करता है। इस कार्यक्रम को जून 2015 से जून 2017 तक 2 साल के लिए राष्ट्रीय प्रत्यायन बोर्ड, नई दिल्ली द्वारा मान्यता प्राप्त है।

वैमनीकॉम के पीजीडीएम-एबीएम उत्तीर्ण छात्रों को कई विविध और प्रतिष्ठित सरकारी , सहकारी, निजी, कॉर्पोरेट संगठनों में अच्‍छे जॉब पर रखा गया है जो सभी वैमनीकॉम के ध्वज को हमेशा ऊंचा रखते हैं। इस संस्थान ने कार्यक्रम के प्रारम्‍भ से अब तक के छात्रों को 100% नियुक्तियों का अपना रिकार्ड बनाए रखा है।

इसके अलावा, वैमनीकॉम अपनी आधारभूत सुविधाएं अन्य विभागों, एजेंसियों, संगठनों और व्यक्तियों को किराया भुगतान के आधार पर ऑडिटोरियम, कक्षाओं, गेस्ट हाउस आदि को भी प्रदान की हैं।

वैमनीकॉम और सिकटैब के निदेशक के रूप में, मैं भारत में सभी को वैमनीकॉम और सिकटैब में विभिन्न पाठ्यक्रमों में शामिल होने के लिए आमंत्रित करता हूं। यह आमंत्रण सहकारी और ग्रामीण वित्तपोषण क्षेत्रों में दिलचस्पी रखने वाले विदेशी प्रतिभागियों को भी दिया जाता है।

डॉ.आशीष कुमार भूटानी, आईएएस,

निदेशक

वैमनीकॉम और सीकटाब